• Home   /  
  • Archive by category "1"

One Day Without Internet Essay In Hindi

A Day Without Computer or Internet

Can you imagine a day without computer or internet? I am not sure how many of them can cope up. But today most of the business and common rely upon computer. We have become more dependent on this machine that it has become an integral part of our day to day life.

The other reason why some people consider it to be vital is because of the ease of communication. Communication has become so simple and easy and you can talk to your friends and family even from work or even while travelling.

From time to time I took break from computer and internet. It always felt good, and I always had a feeling that I had more time when I am not in front of the computer. Or it is because I am too much into computer that I don’t even realize time going away.

Whenever I took break from internet and computer, it was always planned, also I did it by my own will. So I knew I wont be on the computer or internet for the next day or two. In short, I would be mentally prepared for a lifestyle without computer and internet. Once I even took a break and went on a trip to a remote place where there was no mobile signal. I enjoyed my trip and it felt really good.

But whenever my ISP goes down suddenly and I find that I do not have access to the internet, I really feel terrible. Sometimes I even feel that I have no connection to the outside world. I know it is silly, but can’t help, that is how I feel. And I go crazy as shown in the clip.

I felt the same way when my computer crashed early this week and failed to boot up. I literally panicked. When the technical support executive told me that the motherboard has to be replaced and a service engineer would visit me soon, the first question I asked was “if he will come today” . He said that the service guy will visit only after getting the essential parts (my case motherboard), this made me to worry further and I hoped that the parts are available readily.

Now, since I knew I wont have computer at home for another day or at least till the service guy comes, I made up my mind and planned my evening according to it.

When the motherboard was replaced and the service guy found that there was still some problem with the hard disk, it made me to worry again. He told me to call the technical support once again to place a complaint for the hard disk replacement. So, I thought another two days with no computer at home.

But somehow, I managed to boot up the system, so at least I could get online and read some news and talk to couple of friends.

This time the technical support person told me that I have to wait for around two days for the hard disk replacement. I don’t know what the reason is, but if they don’t come by the end of second day, I should end up waiting for another two days because of weekend.

All I hope is, my computer don’t crash during this waiting period and the hard disk get replaced as soon as possible.

I find it strange, I can live without computer and internet if the decision was mine, but I can not live without these if they were forcefully taken away from me.

लोगों की सफलता में आज इंटरनेट का बड़ा हाथ है। चलिये, इसके द्वारा बच्चों को इसके फायदे और नुकसान के बारे में बताते है। ये उनके दिमाग को पढ़ाई की तरफ ले जाता है। विद्यार्थीयों को ये समझ में आये इसलिये इसमें बेहद आसान शब्दों का इस्तेमाल किया गया है।

इंटरनेट पर निबंध (इन्टरनेट एस्से)

Find essay on internet in Hindi language for students in 100, 150, 200, 250, 300, and 400 words.

इंटरनेट पर निबंध 1 (100 शब्द)

इंटरनेट आधुनिक और उच्च तकनीकी विज्ञान का आविष्कार है। ये किसी के भी द्वारा दुनिया के किसी भी कोने से जानकारी प्राप्त करने की आश्चर्यजनक सुविधा उपलब्ध कराता है। इसके माध्यम से हम लोग आसानी से किसी एक जगह रखे कम्प्यूटर को किसी भी एक या एक से अधिक कम्प्यूटर से जोड़कर जानकारी का आदान प्रदान कर सकते है। इंटरनेट के द्वारा हम कुछ सेकेंडों में ही बड़ा या छोटा संदेश, अथवा किसी प्रकार की जानकारी किसी भी कम्प्यूटर या डिजीटल डिवाइस(यंत्र) जैसे टैबलेट, मोबाईल, पीसी पर भेज सकते है। ये जानकारीयों का बड़ा संग्रह है जिसमें लाखों वेबसाइट है जैसे-घरेलू, व्यापारिक, शैक्षिक, सरकारी आदि। हम इसे नेटवर्कों का नेटवर्क कह सकते है।

इंटरनेट पर निबंध 2 (150 शब्द)

नेटवर्कों का बड़ा नेटवर्क है इंटरनेट, जिसका इस्तेमाल कर हम लोग दुनिया के किसी भी कोने से मौजूद कोई भी जानकारी पता कर सकते है। दूरसंचार लाइन और मौड्यूलेट्-डीमौड्यूलेट् के माध्यम से इसकी पहुँच कहीं भी हो सकती है साथ ही ये हमारे कम्प्यूटर में एनालॉग सिग्नल को डीजीटल सिग्नल में परिवर्तित कर भेजता है। इंटरनेट की खोज हमारे लिये असंख्य फायदे ले आयी है, जबकि हम इसके नुकसान से भी नहीं बच सकते। इसका उपयोग हमलोग बहुत तरीके से करते है जैसे- ईमेल, संदेश, ऑनलाइन बात करने के लिये, फाइल स्थानांतरण करने के लिये तथा वर्ल्ड वाइड वेब के द्वारा वेब पेजों और दूसरे दस्तावेजों की प्राप्ति के लिये करते है।

इंटरनेट कनेक्शन से जुड़ते ही हमारी पहुँच वर्ल्ड वाइड वेब तक हो जाती है। वेब पेजों को खोलते ही हम किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते है और अपने उद्देश्य की प्राप्ती कर सकते है। वेब पेजों को खोलने की कोई समय-सीमा नहीं है, हम इसे एक मिनट या एक घंटा या उससे ज्यादा समय के लिये भी खोल सकते है साथ ही अपने मतलब के किसी भी पेज को हम अपने कम्प्यूटर में सुरक्षित कर सकते है। इसके द्वारा हम अपने प्रोजेक्ट को बहुत आसानी और समय से पूरा कर सकते है।

इंटरनेट पर निबंध 3 (200 शब्द)

इंटरनेट के माध्यम से आमजन का जीवन आसान हो गया है क्योंकि इसके द्वारा हम बिना घर के बाहर गये ही अपना बिल जमा करना, फिल्म देखना, व्यापारिक लेन-देन करना, सामान खरीदना आदि काम कर सकते है। अब ये हमारे जीवन का एक खास हिस्सा बन चुका है हम कह सकते है कि इसके बिना हमे अपने रोजमर्रा के जीवन में तमाम मुश्किलें का सामना करना पड़ सकता है। इसकी सुगमता और उपयोगिता की वजह से, ये हर जगह इस्तेमाल होता है जैसे- कार्यस्थल, स्कूल, कॉलेज, बैंक, शिक्षण संस्थान, प्रशिक्षण केन्द्रों पर, दुकान, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, रेस्टोरेंट, मॉल और खास तौर से अपने घर पर हर एक सदस्यों के द्वारा अलग-अलग उद्देश्यों के लिये। जैसे ही हम अपने इंटरनेट सेवा प्रदाता को इसके कनेक्शन के लिये पैसे देते है उसी समय से हम इसका प्रयोग दुनिया के किसी भी कोने से एक हफ्ते या उससे ज्यादा समय के लिये कर सकते है। ये हमारे इंटरनेट प्लान पर निर्भर करता है।

इंटरनेट के हमारे जीवन में प्रवेश के साथ ही, हमारी दुनिया बड़े पैमाने पर बदल गई कुछ सकारात्मक तो कुछ नकारात्क रुप में। ये विद्यार्थी, व्यापारी, सरकारी एजेंसी, शोध संस्थान आदि के लिये बहुत फायदेमंद है। इससे विद्यार्थी अपने पढ़ाई से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते थे, व्यापारी एक जगह से ही अपनी गतिविधियों को अंजाम दे सकता है, इससे सरकारी एजेंसी अपने काम को समय पर पूरा कर सकती है तथा शोध संस्थान और शोध करने के साथ ही उत्कृष्ट परिणाम दे सकती है।


 

इंटरनेट पर निबंध 4 (250 शब्द)

इंटरनेट के माध्यम से इंसान के काम करने के तरीके और जीवन में क्रांतिकारी बदलाव आया है। इसने व्यक्ति के समय और मेहनत की बचत की इसलिये ये जानकारी पाने के लिये बहुत फायदेमंद है साथ ही इससे कम खर्च में ज्यादा आमदनी प्राप्त हो सकती है। ये नगण्य समय लेते हुये जानकारी को आपके घर तक पहुँचाने की दक्षता रखता है। मूलत: इंटरनेट नेटवर्कों का नेटवर्क है जो एक जगह से नियंत्रण के लिये कई सारे कम्प्यूटरों को जोड़ता है। आज इसका प्रभाव दुनिया के हर कोने में देखा जा सकता है। इंटरनेट से जुड़ने के लिये एक टेलिफोन कनेक्शन, एक कम्प्यूटर और एक मॉडम की जरुरत होती है।

ये दुनिया के किसी भी जगह से पूरे विश्वभर की जानकारी ऑनलाइन प्राप्त करने में हमारी मदद करता है। इसके द्वारा हम वेबसाइट से कुछ सेकेंडों में ही जानकारी को जमा, इकट्ठा और भविष्य के लिये सुरक्षित कर सकते है। मेरे स्कूल के कम्प्यूटर लैब में इंटरनेट की सुविधा है जहाँ हम अपने प्रोजेक्ट से संबंधित जरुरी जानकारी को प्राप्त कर सकते है। मेरे कम्प्यूटर शिक्षक मुझे ऑनलाइन जानकारी प्राप्त करने के लिये इंटरनेट के उचित इस्तेमाल की सलाह देते है।

इससे ऑनलाइन संपर्क तेज और आसान हो गया है जिससे संदेश या विडियो कॉनप्रेंस के द्वारा दुनिया में कहीं भी मौजुद लोग एक-दूसरे से जुड़ सकते है। इसकी मदद से विद्यार्थी अपनी परीक्षा, प्रोजेक्ट, तथा रचनात्मक कार्यों में भाग लेना आदि कर सकता है। इससे विद्यार्थी अपने शिक्षकों और दोस्तो से ऑनलाइन जुड़कर कई सारे विषयों पर चर्चा कर सकता है। इसकी सहायता से हम लोग विश्व में कुछ भी जानकारी प्राप्त कर सकते है जैसे-कहीं की यात्रा के लिये उसका पता तथा सटीक दूरी आदि जान सकते है।

इंटरनेट पर निबंध 5 (300 शब्द)

आधुनिक समय में, पूरी दुनिया में इंटरनेट एक बहुत ही शक्तिशाली और दिलचस्प माध्यम बनता जा रहा है। ये एक नेटवर्कों का नेटवर्क है और कई सारी सेवाओं तथा संसाधनों का समूह है जो हमें कई प्रकार से लाभ पहुँचाता है। इसके इस्तेमाल से हमलोग कहीं से भी वर्ल्ड वाइड वेब तक पहुँच सकते है। ये हमें बड़ी तादाद में सुविधा मुहैया कराता है जैसे-ईमेल, सर्फिंग सर्च इंजन, सोशल मीडिया के द्वारा बड़ी हस्तियों से जुड़ना, वेब पोर्टल तक पहुँच, शिक्षाप्रद वेबसाइटों को खोलना, रोजमर्रा की सूचनाओं से अवगत रहना, विडियो बातचीत आदि। ये सभी का सबसे अच्छा दोस्त बनता है। आधुनिक समय में लगभग हर कोई इंटरनेट का इस्तेमाल विभिन्न उद्देश्यों के लिये कर रहा है। जबकि हमें अपने जीवन पर इससे पड़ने वाले फायदे-नुकसान के बारे में भी जानना चाहिये।

विद्यार्थीयों के लिये इसकी उपलब्धता जितनी लाभप्रद है उतनी ही नुकसानदायक भी क्योंकि बच्चे अपने माता-पिता के चोरी से इसके माध्यम से गलत वेबसाइटों का भी इस्तेमाल करते है जोकि उनके भविष्य को नुकसान पहुँचा सकता है। ज्यादातर माता-पिता इस खतरे को समझते है लेकिन कुछ इसे नज़रअंदाज कर देते है और खुलकर इंटरनेट का इस्तेमाल करते है। इसलिये घर में बच्चों द्वारा इंटरनेट का इस्तेमाल अभिवावकों की देखरेख में होनी चाहिये।

अपने कम्प्यूटर सिस्टम में पासवर्ड और प्रयोक्ता नाम डाल कर अपने खास डाटा को दूसरों से सुरक्षित रख सकते है। इंटरनेट हमें किसी भी ऐप्लिकेशन प्रोग्राम के द्वारा अपने दोस्त, माता-पिता और शिक्षकों को किसी भी क्षण संदेश भेजने की आजादी देता है। ये जान कर हैरानी होगी कि उत्तरी कोरिया, म्यांमार आदि कुछ देशों में इंटरनेट पर पाबंदी है क्योंकि वो इसे बुरा समझते है। कभी-कभी इंटरनेट से सीधे-तौर पर कुछ भी डाउनलोड करने के दौरान, हमारे कम्प्यूटर में वाइरस, मालवेयर, स्पाइवेयर, और दूसरे गलत प्रोग्राम आ जाते है जो हमारे सिस्टम को नुकसान पहुँचा सकते है। ऐसा भी हो सकता है कि हमारे सिस्टम में रखे डाटा को बिना हमारी जानकारी के पासवर्ड होने के बावजूद भी इंटरनेट के द्वारा हैक कर लिया जाये।


 

इंटरनेट पर निबंध 6 (400 शब्द)

इंटरनेट एक वैश्विक नेटवर्क है जो पूरी दुनिया के कम्प्यूटरों को एक साथ जोड़ता है। इसने रोज के कार्यों की प्राप्ति को बेहद आसान बनाया है जो कि एक समय कठिन लंबा और समय लेने वाला था । हमलोग बिना इसके अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते जिसको इंटरनेट कहा जाता है। जैसाकि इस धरती पर हर चीज का एक फायदा-नुकसान होता है उसी तरह इंटरनेट का भी हमारे जीवन का अच्छा और बुरा प्रभाव है। इंटरनेट की वजह से ही ऑनलाइन संचार बहुत ही सरल और आसान हो गया है। पुराने समय में संचार का माध्यम पत्र होता था जोकि लंबा समय लेने वाला और कठिन होता था क्योंकि इसके लिये किसी एक को लंबी दूरी तय कर संदेश पहुँचाना पड़ता था। लेकिन अब, कुछ सोशल नेटवर्किग साइट को खोलने के लिये हमें सिर्फ इंटरनेट से जुड़ने की जरुरत है साथ ही जी-मेल, याहू आदि अकांउट के द्वारा सेकेंडो में ही संदेश को भेजा जा सकता है।

मेट्रों, रेलवे, व्यापारिक उद्योग, दुकान, स्कूल, कॉलेज, शिक्षण संस्थान, एनजीओ, विश्वविद्यालय, कार्यालय (सरकारी तथ गैर-सरकारी) में हर डाटा को कंप्यूरीकृत करके बड़े स्तर पर कागज और कागजी कार्यों से बचा जा सकता है। इसके माध्यम से एक जगह से पूरे विश्व के बारे में समय-समय पर खबर जाना जा सकता है। ढ़ेर सारी जानकारीयों को जमा करने में ये बहुत दक्ष और प्रभावकारी है चाहे वो किसी भी विषय से संदर्भित हो चंद सेकेंड में ही उपलब्ध हो जाएगा। ये शिक्षा, यात्रा, और व्यापार में बहुत उपयोगी है। इसके द्वारा ऑनलाइन पब्लिक लाइब्रेरी, टेक्स्टबुक, तथा संबंद्ध विषयों तक पहुँच आसान हुई है।

पहले के समय में जब लोग बिना इंटरनेट के थे, उन्हे कई प्रकार के कार्यों के लिये लंबे समय तक लाइन में लगना पड़ता था जैसे रेलवे का टिकट लेने के लिये। लेकिन आधुनिक समय में लोग बस एक क्लिक से टिकट की बुकिंग कर सकते है साथ ही एक सॉफ्ट कॉपी अपने मोबाईल फोन में भी रख सकते है। इंटरनेट की दुनिया में, किसी एक को ये जरुरी नहीं कि लंबी दूरी तय करके वो अपने किसी व्यापारिक मुलाकात या किसी और काम के लिये यात्रा करे। कोई भी विडियों कॉनप्रेंसिंग, कॉलिंग, स्काईप या दूसरे तरीकों से अपनी जगह पर रह कर ही बैठक का हिस्सा बन सकता है। इंटरनेट हमें कई तरीकों से फायदा पहुँचाता है जैसे ऑनलाइन स्कूल, कॉलेज, या विश्वविद्यालयों में दाखिला दिलाने में, व्यापारिक और बैंकिंग लेन-देन में, शिक्षकों और कर्मचारियों की नियुक्ति में, ड्राइविंग लाइसेंस आवेदन करने में, बिल जमा करने आदि में मदद करता है।


Previous Story

कंप्यूटर पर निबंध

Next Story

विज्ञान और तकनीकी पर निबंध

One thought on “One Day Without Internet Essay In Hindi

Leave a comment

L'indirizzo email non verrà pubblicato. I campi obbligatori sono contrassegnati *